ads
आज है: December 15, 2018

बैडमिंटन

पिछला परिवर्तन-Tuesday, 13 Mar 2018 23:44:40 PM

ऑल इंग्लैंड खिताब पर हैं सिंधू और श्रीकांत की नजरें

बर्मिंघम। भारतीय बैडमिंटन सितारे पी वी सिंधू और किदाम्बी श्रीकांत कल से यहां शुरू हो रही आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप में उतरेंगे तो उनका इरादा उस खिताब को पहली बार अपने नाम करने का होगा जो 17 साल पहले उनके गुरू पुलेला गोपीचंद ने जीता था। आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप जीतना किसी भी बैडमिंटन खिलाड़ी का सपना होता है। भारत से अभी तक सिर्फ प्रकाश पादुकोण ( 1980 ) और गोपीचंद ( 2001) यह प्रतिष्ठित खिताब अपने नाम कर सके हैं।
सिंधू और श्रीकांत को पहले दौर में आसान प्रतिद्वंद्वी मिले हैं लेकिन इस चैम्पियनशिप का फाइनल खेल चुकी साइना नेहवाल को पहले दौर में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी और गत चैम्पियन चीनी ताइपै की तेइ जू यिंग से खेलना है। तेइ जू का साइना के खिलाफ रिकार्ड 9–5 का है। पिछले सात मुकाबलों में साइना उससे हार चुकी है और इस साल की शुरूआत में इंडोनेशिया मास्टर्स फाइनल में मिली हार इसमें शामिल है।
चौथी वरीयता प्राप्त सिंधू पहले दौर में थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग से खेलेगी लेकिन अगले दौर में इंडिया ओपन विजेता बेवेन झांग से सामना हो सकता है। श्रीकांत को पहले दौर में फ्रांस के ब्राइस लीवरदेज के रूप में आसान चुनौती मिली है। गोपीचंद के मार्गदर्शन में भारतीय बैडमिंटन का यह सुनहरा दौर है और भारत के पास कई विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं ।इनमें लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना 2015 में खिताब के करीब पहुंची लेकिन फाइनल में कैरोलिना मारिन से हार गई थी।
ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू पिछले साल क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी। पुरूष वर्ग में दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत ने 2017 में चार सुपर सीरिज खिताब जीते और वह आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप में भी खिताब के दावेदारों में से होंगे। पिछले साल वह पहले दौर से बाहर हो गए थे लेकिन इस बार उस नाकामी की भरपाई करने का इरादा होगा।

Comments           Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो...
  2. नेतन्याहू ने पत्नी के साथ किया ताजम...
  3. उम्‍मीद है, मेरे आंदोलन से अब कोई '...