ads
आज है: February 25, 2018

कॉर्पोरेट

पिछला परिवर्तन-Monday, 05 Feb 2018 04:21:51 AM

एलटीसीजी कर से नहीं, वैश्विक रुख से टूटा शेयर बाजार : अधिया

नई दिल्ली। शेयर बाजार में लगातार जारी गिरावट को लेकर वित्त सचिव हसमुख अधिया ने सफायी दी और कहा कि यह दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ (एलटीसीजी) कर लगाने के कारण नहीं है बल्कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई गिरावट के चहले है। अधिया ने कहा कि सरकार ने 10 प्रतिशत की "रियायती दर" से यह कर लागाया है। इसके विपरीत असूचीबद्ध शेयरों और अचल संपत्तियों की बिक्री से होने वाले पूंजीगत लाभ पर कर की दर 20 प्रतिशत है।
भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा बजट-बाद आयोजित एक बैठक में अधिया ने कहा, यह बड़ा दुर्भाग्य है कि हमारा यह निर्णय ऐसे गलत समय पर आया जबकि वैश्विक बाजारों में गिरावट का दौर चल रहा है। दुनिया भर के शेयर बाजारों में परस्पर मजबूत संबंध है। पिछले सप्ताह सभी देशों के शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांक 3.4 प्रतिशत तक नीचे आ गए।
उन्होंने कहा, अगर पूरे विश्व के शेयर सूचकांक में 3.4 प्रतिशत की गिरावट आई है, तो भारतीय बाजार पर इसका असर पड़ना स्वाभाविक है। भारत में गिरावट एलटीसीजी कर के कारण नहीं है। निवेशकों की ओर से लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में भारी मुनाफावसूली से आज शुरूआती कारोबार में सेंसेक्स और निफ्टी 1.6 प्रतिशत तक गिर गये।
2018-19 के बजट में एक अप्रैल से एक लाख रुपये से अधिक के दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर 10 प्रतिशत कर लगाया गया था। हालांकि, 31 जनवरी 2018 तक के सभी लाभों पर कोई कर नहीं लगेगा। उन्होंने कहा, हमने एक निर्धारित तिथि तक कर में छूट दी है। फिर किसी को परेशान होकर शेयर क्यों बेचने चाहिये जबकि हमारे पास छूट है तो फिर बेचने में जल्दबाजी नहीं होनी चाहिये। अधिया ने कहा, ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे शेयरों को तुरंत बेचा जाये। इसलिये शेयरों की बिकवाली एलटीसीजी का असर नहीं है।

Comments          Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो...
  2. नेतन्याहू ने पत्नी के साथ किया ताजम...
  3. उम्‍मीद है, मेरे आंदोलन से अब कोई '...