ads
आज है: December 15, 2018
पिछला परिवर्तन-Saturday, 01 Sep 2018 01:39:44 AM

पुजारा ने जड़ा टेस्ट करियर का 15वां शतक, टीम को मिली 21 रन की बढ़त

साउथम्पटन। चेतेश्वर पुजारा ने अपने जज्बे और रणनीतिक बल्लेबाजी करने के कौशल का बेहतरीन नमूना पेश करके उत्कृष्ट शतकीय पारी खेली जिससे भारत मोईन अली के झटकों के बावजूद इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन पहली पारी में बढ़त बनाने में सफल रहा। पुजारा ने नाबाद 132 रन बनाये जिसमें 16 चौके शामिल हैं। उनकी इस बेहतरीन पारी से भारत अपनी पहली पारी में 273 रन बनाकर 27 रन और मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल करने में सफल रहा। अपनी पहली पारी में 246 रन बनाने वाले इंग्लैंड ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के छह रन बनाये हैं और वह अभी भारत से 21 रन पीछे है। स्टंप उखड़ने के समय एलिस्टेयर कुक दो और कीटोन जेनिंग्स चार रन पर खेल रहे थे।
पुजारा ने आठवें ओवर में क्रीज पर कदम रखा और इसके बाद भारतीय पारी उन्हीं के इर्द गिर्द घूमती रही। उन्हें दूसरे छोर से कप्तान विराट कोहली (46) का अच्छा सहयोग मिला जिनके साथ उन्होंने तीसरे विकेट के लिये 92 रन जोड़े। इन दोनों के अलावा भारत का कोई भी अन्य बल्लेबाज 25 रन तक नहीं पहुंच पाया। पुजारा ने बेन स्टोक्स की शार्ट पिच गेंद से माथे पर लगी चोट के बावजूद अपने जज्बे, धैर्य और कौशल की अच्छी तस्वीर पेश की तथा न सिर्फ अपना 15वां शतक पूरा किया बल्कि जसप्रीत बुमराह (छह) के साथ दसवें विकेट के लिये 46 रन जोड़कर भारत को पहली पारी में बढ़त भी दिलायी। जब लग रहा था कि भारत पहली पारी में पिछड़ जाएगा तब पुजारा ने चतुराई भरी बल्लेबाजी की और अधिकतर स्ट्राइक अपने पास रखकर टीम को महत्वपूर्ण बढ़त दिलायी। बुमराह की भी तारीफ करनी होगी जिन्होंने लगभग 70 मिनट तक पुजारा का साथ दिया।
भारत को सबसे ज्यादा नुकसान आफ स्पिनर मोईन अली ने पहुंचाया। उन्होंने 63 रन देकर पांच विकेट लिये। कुछ बल्लेबाजों ने उनके सामने गैरजिम्मेदाराना शाट लगाकर भी अपने विकेट गंवाये। मोईन अपने करियर में पांच बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लेने में सफल रहे। तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड ने 63 रन देकर तीन विकेट लिये। इससे पहले बुमराह ने जब क्रीज पर कदम रखा तब पुजारा शतक से चार रन दूर थे और भारत इंग्लैंड से 18 रन पीछे था। सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने मोईन की गेंद पर लांग लेग पर दो रन लेकर इंग्लैंड की सरजमीं पर अपना पहला शतक पूरा किया तथा इसके बाद तेजी दिखायी। जो रूट ने ब्राड को गेंद सौंपी जिन पर पुजारा ने लगातार दो चौके लगाये।
भारत ने सुबह बिना किसी नुकसान के 19 रन से आगे खेलना शुरू किया। शिखर धवन (23) और केएल राहुल (19) देर तक नहीं टिक पाये। इन दोनों को ब्राड ने पवेलियन भेजा। राहुल ने पगबाधा के लिये डीआरएस भी लिया लेकिन फैसला इंग्लैंड के पक्ष में गया जबकि धवन ने विकेट के पीछे कैच थमाया। इसके बाद पुजारा और कोहली ने जिम्मेदारी संभाली। कोहली ने इस बीच अपना छठा रन पूरा करते ही टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे किये। वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले भारत के दसवें और विश्व के 66वें बल्लेबाज हैं। कोहली ने 119वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया और वह सुनील गावस्कर (117) के बाद सबसे कम पारियों में यह उपलब्धि करने वाले बल्लेबाज भी बन गये।
भारत ने दूसरे सत्र में कोहली के अलावा अजिंक्य रहाणे (11) और ऋषभ पंत (शून्य) के विकेट गंवाये। ब्राड ने कोहली को परेशानी में रखा लेकिन भारतीय कप्तान को सैम कुरेन ने पवेलियन भेजा। कोहली उनकी आफ स्टंप से बाहर जाती गेंद को छेड़ने से खुद को नहीं रोक पाये। गेंद बल्ले को चूमकर पहली स्लिप में एलिस्टेयर कुक के सुरक्षित हाथों में चली गयी। कोहली ने अपनी 71 गेंद की पारी में छह चौके लगाये। बेन स्टोक्स की गेंदबाजी को लेकर संशय था लेकिन उन्होंने बाकायदा गेंद संभाली और शुरू से जूझ रहे रहाणे को पगबाधा आउट किया। रहाणे ने डीआरएस लिया लेकिन इससे भी फायदा नहीं मिला जबकि लग रहा था कि स्टोक्स ने नोबॉल की थी।

Comments           Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो...
  2. नेतन्याहू ने पत्नी के साथ किया ताजम...
  3. उम्‍मीद है, मेरे आंदोलन से अब कोई '...