ads
आज है: December 12, 2017

शिक्षा

पिछला परिवर्तन-Thursday, 15 Sep 2016 03:18:20 AM

प्रदेश के 100 महाविद्यालयों में 830 अतिरिक्त कक्षों का होगा निर्माण: प्रेमप्रकाश

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के उच्च शिक्षा एवं राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने कहा है कि उच्च शिक्षा का विस्तार करने के लिए राज्य सरकार द्वारा चालू सत्र में प्रदेश के 100 महाविद्यालयों में 830 अतिरिक्त कक्षों का निर्माण किया जा रहा है। इससे आने वाले सत्र में इन कॉलेजों में करीब 5100 छात्र-छात्राएं अतिरिक्त प्रवेश ले सकेंगे। श्री पाण्डेय आज यहां जिले के नगर पालिका आरंग स्थित शासकीय बद्री प्रसाद कला वाणिज्य एवं विज्ञान महाविद्यालय में एक करोड़ की लागत से बनने वाले अतिरिक्त कक्षों का भूमिपूजन और सांसद निधि से 10 लाख की लागत से नवनिर्मित सेमीनार हॉल का लोकार्पण करते हुए उपरोक्त विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता में आरंग विधायक नवीन मार्कण्डेय ने की ।
उच्च शिक्षा मंत्री श्री पाण्डेय ने इस अवसर पर महाविद्यालय के छात्रसंघ के शपथ ग्रहण समारोह में भी सम्मिलित हुए और नवनिर्वाचित सभी पदाधिकारियों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पाण्डेय ने कहा कि राज्य निर्माण के समय महाविद्यालयों में लड़के तथा लड़कियों का अनुपात 80:20 था वहीं छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए किए गए उल्लेखनीय प्रयासों से आज महाविद्यालयों में लड़कों की तुलना में लड़कियां अधिक अध्ययनरत है, और यह अनुपात 1:1.23 हो गया है।
श्री पाण्डेय ने कहा कि पिछले साल 37 महाविद्यालयों को स्नातकोत्तर का दर्जा दिया गया था वहीं इस साल 14 महाविद्यालय स्तानकोत्तर बने है इसमें आरंग महाविद्यालय भी शामिल है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के प्रतिभावान छात्रों के लिए रायपुर, राजनांदगांव, दुर्ग, कांकेर और बस्तर में आवासीय महाविद्यालयों का संचालन किया जाएगा जिसमें 50 प्रतिशत बच्चें ग्रामीण क्षेत्र के होंगे तथा इनकी पढ़ाई का आधा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। प्रदेश के किसी भी जिले के प्रतिभावन छात्र राज्य के किसी भी कॉलेज में दाखिला ले सकते है। राज्य सरकार द्वारा जिले का बंधन सामाप्त कर दिया गया है। श्री पाण्डेय ने कहा कि महाविद्यालयों को साफ-स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी वहां के छात्र, प्राध्यापक, जनभागीदारी समिति सहित अभिभावकों की है ताकि बच्चों को बेहतर वातावरण मुहैया हो सके।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक नवीन मार्कण्डेय ने कहा कि प्रदेश में लगातार उच्च शिक्षा का विस्तार हो रहा है। नवीन महाविद्यालयों के साथ ही पुराने महाविद्यालयों का स्नातकोत्तर में उन्नयन हो रहा है। उन्होंने आरंग महाविद्यालय में प्राणिशास्त्र और गणित की स्नातकोत्तर कक्षाएं प्रारंभ कर इस महाविद्यालय को स्नातकोत्तर महाविद्यालय का दर्जा देने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री का आभार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य के.एन.शर्मा सहित जनभागीदारी के अध्यक्ष छात्रसंघ के पदाधिकारी व छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Comments           Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. CM योगी ने किया ताज महल का दीदार, प...
  2. आगरा पहुंचे योगी आदित्यनाथ करेंगे त...
  3. नेताजी से फोन पर बात हुई, मुझे आशीर...