ads
आज है: August 16, 2018

अंतरराष्ट्रीय

पिछला परिवर्तन-Sunday, 13 May 2018 23:21:40 PM

अमेरिकी प्रतिबंध के बाद ईरान में शील्ड कंपनियां मुश्किल में

Jamaica

बर्लिन। जर्मनी अमेरिका के ईरान पर प्रतिबंध लगाने के फैसले के बाद भी वहां काम करने वाली अपनी कंपनियों का मदद करना चाहता है लेकिन किसी भी लड़ाई में डालना उनके लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है। जर्मनी के विदेश मंत्री हेईको मास ने यहां कहा कि फ्रांस और ब्रिटेन के साथ जर्मनी भी परमाणु समझौते के लिए प्रतिबद्ध है।
तीनों यूरोपीय देशों के विदेश मंत्री ईरान के विदेश मंत्री के साथ मंगलवार को बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में आगे का रास्ता निकालने के लिए चर्चा करेंगे। उन्होंने एक अखबार से कहा, मुझे अमेरिकी प्रतिबंधों के जोखिमों से शील्ड कंपनियों के लिए एक आसान समाधान दिखाई नहीं दे रहा है। इस समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले यूरोपीय, ईरान तथा अन्य देशों के साथ वार्ता इसलिए भी हो रही है कि ईरान के साथ व्यापार को कैसे जारी रखा जा सकता है?उन्होंने कहा कि यूरोपीय देश यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ईरान परमाणु समझौते के नियमों और प्रतिबंधों का पालन करना जारी रखेगा। उन्होंने कहा, आखिरकार, ईरान वार्ता के लिए तैयार है। यह स्पष्ट है कि आर्थिक प्रोत्साहन भी जारी रखना चाहिए जो अमेरिका के निर्णय के बाद आसान नहीं होगा।

Comments           Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो...
  2. नेतन्याहू ने पत्नी के साथ किया ताजम...
  3. उम्‍मीद है, मेरे आंदोलन से अब कोई '...