ads
आज है: October 20, 2018

अंतरराष्ट्रीय

पिछला परिवर्तन-Monday, 14 May 2018 01:18:19 AM

मुंबई हमलों पर शरीफ के बयान के बाद पाक सेना ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक

Pakistan

इस्लामाबाद। मुंबई हमलों पर पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की टिप्पणी पर चर्चा के लिए पाकिस्तानी सेना उच्चस्तरीय बैठक करेगी। शरीफ ने पहली बार सार्वजनिक रूप से एक साक्षात्कार में माना कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय हैं। उन्होंने सरकार से इतर तत्वों के सीमा पार करने और लोगों की हत्या करने देने की पाकिस्तान की नीति पर सवाल उठाए थे। शरीफ ने कहा था कि क्या पाकिस्तान को सरकार इतर तत्वों को सीमा पार करने और मुंबई में लोगों की हत्या करने की अनुमति देनी चाहिए। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने टि्वटर पर कहा कि प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को उच्चाधिकार प्राप्त राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक बुलाने का सुझाव दिया गया। एनएससी शीर्ष असैन्य तथा सैन्य नेतृत्व का मंच है जो महत्वपूर्ण राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा करती है।
गत शुक्रवार को डॉन के साथ एक खास साक्षात्कार में शरीफ ने मुंबई हमलों से संबंधित मुकदमे को अंजाम तक पहुंचाने में किए जा रहे विलंब को लेकर भी आलोचना की थी। बयान के चलते शरीफ को विपक्षी नेताओं तथा उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) से अलग हुए लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है। इन लोगों का कहना है कि शरीफ ने बयान देकर मुंबई हमलों में भारतीय रूख का समर्थन किया है और देश के राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाया है। क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने कहा कि शरीफ (भारत के प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी की भाषा बोल रहे हैं और देश को नुकसान पहुंचाने के लिए पाकिस्तान के दुश्मनों का समर्थन कर रहे हैं। इस बीच, नवाज शरीफ के छोटे भाई शाहबाज शरीफ ने कहा कि मीडिया ने पूर्व प्रधानमंत्री के बयान को गलत तरीके से पेश किया है। उन्होंने कहा, ‘क्या कोई विश्वास कर सकता है कि नवाज शरीफ कोई ऐसी चीज कहेंगे। दुनिया टीवी ने खबर दी कि एक व्यक्ति ने शरीफ के खिलाफ देश की सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने के आरोप में मामला दर्ज कराने के लिए चकवाल जिले की पुलिस से संपर्क किया है।

Comments           Comment
     
   

स्थानीय समाचार


  1. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो...
  2. नेतन्याहू ने पत्नी के साथ किया ताजम...
  3. उम्‍मीद है, मेरे आंदोलन से अब कोई '...